Posts

Showing posts with the label अर्थशास्त्र

Translate करें.

General Knowledge on Indian Banks: भारतीय बैंकों पर विविध जानकारी

Image
भारतीय बैंकों पर विविध जानकारी राष्ट्रीयकृत बैंकों पर महत्वपूर्ण जानकारी भारत के राष्ट्रीयकृत बैंक भारत का सबसे पुराना संयुक्त स्टॉक बैंक इलाहाबाद बैंक स्वतंत्रता सेनानी डॉ० भोगराजू पट्टाभि सीतारामय्या द्वारा स्थापित बैंक आंध्रा बैंक विदेश में शाखा खोलने वाला पहला बैंक बैंक ऑफ इंडिया, लंदन, 1946 पहला बैंक जिसकी शाखा को आईएसओ 9002 प्रमाण पत्र प्राप्त हुआ केनरा बैंक 2011 में जिस बैंक के 100 साल पुरे होने के उपलक्ष मे डाक विभाग ने एक स्मारक डाक टिकट जारी किया है सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया पूरी तरह से भारतीयों के स्वामित्व वाला पहला भारतीय बैंक सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया लाला लाजपत राय के प्रयासों पर गठित बैंक पंजाब नेशनल बैंक दो राष्ट्रीयकृत बैंकों के विलय का एकमात्र उदाहरण पंजाब नेशनल बैंक और न्यु बैंक ऑफ इंडिया (1993) श्री घनश्याम दास बिरला द्वारा नियोजित बैंक यूको बैंक 1919 में जिस बैंक का उद्घाटन महात्मा गांधी द्वारा किया गया यूनियन बैंक ऑफ इंडिया राष्ट्रीयकृत बैंकों में सबसे बड़ा बैंक पंजाब नेशनल बैंक 1913 में महान इंजिनियर स्वर्गीय डॉ विश्वेश्वरैया की अध्यक्षता में बैंकिंग समिति के प्रस्ताव

General Knowledge: भारत में कैरेंसी नोटों और सिक्कों पर महत्वपूर्ण जानकारी

Image
भारत में कैरेंसी नोटों और सिक्कों पर महत्वपूर्ण जानकारी भारत के सिक्कों तथा मुद्रा नोटों पर महत्वपूर्ण जानकारी सिक्के भारत सरकार को सिक्का अधिनियम, 1906 के अंतर्गत सिक्का निर्माण का एकमात्र अधिकार है । आरबीआई अधिनियम के अंतर्गत केवल रिजर्व बैंक के माध्यम से ही सिक्के परिसंचरण के लिए जारी किए जाते हैं। सिक्का अधिनियम, 1906 के अनुसार 1000 रुपये तक के सिक्के जारी किए जा सकते हैं । भारत ने 01 अप्रैल 1957 से सिक्कों की दशमलव प्रणाली अपनाई । सिक्का अधिनियम के अनुसार 1 रुपए के सिक्कों का उपयोग  किसी भी राशि के भुगतान करने के लिए किया जा सकता है । सिक्का अधिनियम के अनुसार 50 पैसे के सिक्कों का उपयोग  10 रुपए से कम की राशि के भुगतान करने के लिए किया जा सकता है। एक रुपये का नोट वित्त मंत्रालय द्वारा जारी किया जाता है और  वित्त सचिव द्वारा हस्ताक्षरित किया जाता है। भारतीय सिक्का अधिनियम, 2011 के अनुसार एक रुपए के नोट को सिक्का माना जाता है 10 रुपये के द्विपक्षीय सिक्के एल्यूमीनियम-कांस्य (बाहरी घेरा) और तांबा-निकल (आंतरिक भाग) से बने होते हैं बैंक नोट (मुद्रा नोट) मुद्रा नोट के भाषा पैनल पर भाषाओ

Class 12th Economics Long Answer Question by Sushil Dobhal Sir. अर्थशास्त्र दीर्घ उत्तरीय प्रश्न

Image
  Class 12th Economics Long Answer Question by Sushil Dobhal Sir. अर्थशास्त्र दीर्घ उत्तरीय प्रश्न  Part 1 1.  पूर्ण प्रतियोगिता में मूल्य निर्धारण कैसे होता है  ? (How is pLorice determination under perfect competition ?) उत्तर ⇒   मार्शल के अनुसार  “ पूर्ण प्रतियोगिता की स्थिति में किसी वस्तु का मूल्य उस वस्तु की माँग एवं पूर्ति की सापेक्षिक शक्तियों के द्वारा निर्धारित होती है। ” मार्शल के अनसार ही  “ कैंची की दोनों पत्तियों से कपडा काटने का काम होता है। किंत यह नहीं कहा जा सकता है कि इसमें से केवल ऊपर वाली या केवल नीचे वाली पत्ती ही कपड़ा काटने का काम कर रही है। उसी प्रकार यह भी नहीं कहा जा सकता कि मूल्य का निर्धारण अकेले केवल माँग (उपयोगिता) के द्वारा या अकेले केवल पूर्ति (उत्पादन लागत) के द्वारा ही होता है। एक उदाहरण द्वारा देखा जा सकता है  – मूल्य वस्तु की माँग पूर्ति 10  रुपये 200 800 8  रुपये 400 600 5  रुपये 500 500 4  रुपये 600 400 2  रुपये 800 200 उपर्युक्त उदाहरण से स्पष्ट है कि  5  रुपये के मूल्य पर माँग एवं पूर्ति दोनों  500  हो जाते हैं अर्थात् दोनों में संतुलन स्थापित

Himwant readers