Posts

Showing posts from June, 2021

Translate करें.

प्राथमिक शिक्षकों ने 2004 की विज्ञप्ति की शर्तों के अनुसार की पुरानी पेंशन योजना के लाभ देने की मांग। विधानसभा अध्यक्ष को सौंपा ज्ञापन।

Image
प्रदेश के प्राथमिक विद्यालयों में वर्ष 2004 की विज्ञप्ति द्वारा नियोजित शिक्षकों ने पुरानी पेंशन की मांग करते हुए विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद्र अग्रवाल को ज्ञापन सौंपा है। शिक्षकों ने नई पेंशन योजना को कर्मचारियों के साथ धोखा बताते हुए विज्ञप्ति की शर्तों के अनुसार पुरानी पेंशन योजना के लाभ की मांग की है। वर्ष 2004 में उत्तराखंड सरकार द्वारा राज्य के पर्वतीय क्षेत्रों में शिक्षकों के रिक्त पदों को भरने के लिए बीएड प्रशिक्षितों को विशिष्ट बीटीसी के तहत प्राथमिक शिक्षकों के रूप में भर्ती के लिए समाचार पत्रों के माध्यम से विज्ञप्ति जारी की थी। विज्ञप्ति के अनुसार इन शिक्षकों को पुरानी पेंशन योजना का लाभ मिलना था किंतु भर्ती प्रक्रिया में विलंब के कारण शिक्षकों को नियुक्ति के दौरान नई पेंशन योजना से आच्छादित कर दिया गया। उल्लेखनीय है कि नई पेंशन योजना को लेकर देशभर के कर्मचारियों में नाराजगी है और कर्मचारी इसे उनके भविष्य के साथ खिलवाड़ करार देते आ रहे हैं। वर्ष 2004 की विज्ञप्ति में पुरानी पेंशन योजना से आच्छादित के जाने की शर्त होने के बावजूद शिक्षकों को पेंशन का लाभ ना मिलने से शिक्षक अपन

सरकार कर्मचारियों के सब्र का ओर इम्तिहान न ले, पुरानी पेंशन अविलम्ब लागू करे: डॉ0 डी0 सी0 पसबोला

Image
 राष्ट्रीय पुरानी पेंशन बहाली संयुक्त मोर्चा उत्तराखंड की एक ऑनलाइन वेबीनार संपन्न हुई जिसमें की वक्ताओं ने नई पेंशन योजना पर रोष व्यक्त करते हुए कहा की नई पेंशन योजना कर्मचारियों के साथ धोखा है।        वेबिनार में सम्मिलित मोर्चे के प्रदेश अध्यक्ष अनिल बडोनी ने कहा की राष्ट्रीय पुरानी पेंशन बहाली संयुक्त मोर्चा पूरे देश में पुरानी पेंशन बहाली के लिए लगातार संघर्षरत है देश के साथ-साथ उत्तराखंड राज्य में भी मोर्चा पुरानी पेंशन बहाली की आवाज को पुरजोर तरीके से उठा रहा है उन्होंने कहा 30 से 35 साल सरकारी सेवा के पश्चात नई पेंशन योजना में कर्मचारी को न्यूनतम पेंशन की गारंटी नहीं मिल रही है देखा जा रहा है नई पेंशन योजना से जो कर्मचारी सेवानिवृत्त हो रहा है वह मात्र एक हजार से  ₹2000 तक पेंशन पा रहा है जोकि कर्मचारी के साथ अन्याय है।       वेबिनार में मौजूद मोर्चे के प्रदेश वरिष्ठ उपाध्यक्ष डॉ० डी० सी० पसबोला ने कहा की नई पेंशन योजना, जो कि एक काला कानून हैं, के परिणाम स्वरूप देश में अनेक कर्मचारी आत्महत्या तक जैसा कदम उठा चुके हैं राज्य सरकारों एवं केंद्र सरकार को इस दिशा में ठोस रणनीति बना

अंतराष्ट्रीय योग सप्ताह के मौके पर यह विद्यालय आयोजित कर रहा है Online program 'To Integrate and Encourage Yoga Through life’. प्रतिभागियों को मिलेंगे आकर्षक प्रमाण-पत्र।

Image
 योग को लेकर आमलोगों और विशेषकर स्कूली बच्चों में जागरूकता लाने के उद्देश्य से विद्यालयी शिक्षा विभाग टिहरी गढ़वाल की ओर से अटल उत्कृष्ट राजकीय इंटर कॉलेज जाखणीधार द्वारा Online program 'To Integrate and Encourage Yoga Through life’ (जीवन मे योग अपनाने और योग को प्रोत्साहित करने के लिए)  कार्यक्रम  का आयोजन किया जा रहा है। कार्यक्रम में शामिल होने वाले प्रतिभागियों को अपर निदेशक माध्यमिक शिक्षा गढ़वाल मंडल पौड़ी, मुख्य शिक्षा अधिकारी टिहरी गढ़वाल और खंड शिक्षा अधिकारी जाखणीधार टिहरी गढ़वाल के हस्ताक्षरयुक्त ई-प्रमाण पत्र ईमेल द्वारा भेजे जाएंगे। यह कार्यक्रम दिनांक 15 जून से 21 जून 2021तक संचालित होगा।   उक्त आशय की जानकारी देते हुए अटल उत्कृष्ट राजकीय इंटर कॉलेज जाखणीधार के प्रधानाचार्य दिनेश प्रसाद डंगवाल ने कहा है कि विद्यालय के प्रवक्ता सुशील डोभाल के संयोजन में अंतरराष्ट्रीय योग सप्ताह के दौरान 15 जून से 21 जून तक Online program 'To Integrate and Encourage Yoga Through life’ कार्यक्रम संचालित होगा। इस कार्यक्रम में सभी विद्यलयो के विद्यार्थो, अभिभावक, शिक्षक तथा आमलोग शामिल हो

10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षाओं के मूल्यांकन के मानक तय करने के लिए कल देहरादून में आयोजित होगी उच्चस्तरीय बैठक, विद्यालयी शिक्षा परिषद द्वारा बैठक में रखा जाएगा प्रस्ताव।

Image
 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षा मूल्यांकन के मानक तय करने के लिए राज्य स्तर पर गठित की गई समिति कि कल देहरादून में उच्च स्तरीय बैठक होगी जिसमें बोर्ड परीक्षाओं के मूल्यांकन के लिए अंतिम रूप से मानक तय किए जाएंगे। इस आशय की जानकारी अपर निदेशक माध्यमिक शिक्षा महावीर सिंह बिष्ट ने  मंडल स्तरीय ऑनलाइन बैठक में अनुभवी प्रधानाचार्यो, शिक्षा अधिकारियों और शिक्षकों से म्यूल्यांकन हेतु सुझाव लेने के दौरान दी है। बैठक में उत्तराखंड विद्यालय शिक्षा परिषद के अपर सचिव बृजमोहन सिंह रावत ने मूल्यांकन को लेकर बोर्ड की अभी तक की तैयारियों को संक्षेप में बैठक में प्रस्तुत किया। अपर निदेशक माध्यमिक शिक्षा एमएस बिष्ट ने विगत शनिवार को मंडल के प्रधानाचार्य, शिक्षकों और अनुभवी अधिकारियों के साथ बोर्ड परीक्षा मूल्यांकन पर मंथन करने और सुझाव लेने के लिए ऑनलाइन बैठक आयोजित की थी। आज एक बार फिर बैठक आयोजित करते हुए उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के कारण देश भर के शिक्षा परिषदों के साथ ही उत्तराखंड में भी बोर्ड परीक्षाएं रद्द करनी पड़ी और अब विद्यार्थियों का विभिन्न मानकों पर आधारित मूल्यांकन किया जाना है। उन्होंन

10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षा मूल्यांकन के लिए अपर निदेशक एमएस बिष्ट ने ऑनलाइन बैठक में लिये अनुभवी शिक्षकों, प्रधानाचार्यो और अधिकारियों से सुझाव।

Image
    कोविड-19 के कारण उत्तराखंड बोर्ड की 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षाओं के रद्द होने के बाद बोर्ड परीक्षा मूल्यांकन को लेकर अपर निदेशक माध्यमिक शिक्षा गढ़वाल मंडल पौड़ी महावीर सिंह बिष्ट ने ऑनलाइन मीटिंग आयोजित कर अनुभवी शिक्षकों और अधिकारियों के साथ मौजूदा परिस्थितियों में बोर्ड परीक्षाओं के मूल्यांकन पर विचार विमर्श करते हुए सुझाव प्राप्त किये। उन्होंने कहा कि छात्रहितों के साथ साथ परीक्षाफल की विस्वसनीयता का भी ध्यान रखा जाना है इसलिए परीक्षाफल तैयार करने के लियी पारदर्शी मानक बनाये जाएंगे।       उल्लेखनीय है कि कोरोनावायरस को ध्यान में रखते हुए सीबीएसई और अन्य राज्यों के शिक्षा परिषदों के साथ ही उत्तराखंड बोर्ड ने भी 12वीं बोर्ड परीक्षाओं के आयोजन को रद्द कर दिया था और हाल ही में उत्तराखंड शासन द्वारा 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षार्थियों के मूल्यांकन के लिए माध्यमिक शिक्षा विभाग के अंतर्गत एक समिति का गठन किया है। समिति को मूल्यांकन के लिए सीबीएससी  व आईसीएसई सहित अन्य शिक्षा परिषद के सम्यक मापदंडों को ध्यान में रखते हुए मानक तैयार कर 10 दिन के अंतर्गत अपनी कार्ययोजना से शासन को अवगत

विश्व पर्यावरण दिवस के मौके पर अटल उत्कृष्ट विद्यालय जाखणीधार के शिक्षक सुशील डोभाल ने ऑनलाइन क्विज प्रयियोगिता का आयोजन कर दिया पर्यावरण संरक्षण का संदेश। उत्तराखंड सहित कई राज्यो के प्रतिभागी हुए प्रयियोगिता में शामिल।

Image
  अटल उत्कृष्ट राजकीय इंटर कॉलेज जाखणीधार टिहरी गढ़वाल द्वारा विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर ऑनलाइन क्विज प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। इस प्रतियोगिता में उत्तराखंड सहित उत्तर प्रदेश और निकटवर्ती राज्यों की डेढ़ हजार से अधिक प्रतिभागियों ने प्रतियोगिता में प्रतिभाग किया है।      टिहरी गढ़वाल के विकासखंड जाखणीधार के अंतर्गत अटल उत्कृष्ट राजकीय इंटर कॉलेज जाखणीधार द्वारा विश्व पर्यावरण दिवस के मौके पर  ऑनलाइन क्विज प्रतियोगिता आयोजित की गयी, जिसमें सुबह 9:00 बजे से लेकर रात्रि के 9:00 बजे तक करीब डेढ़ हजार से अधिक शिक्षकों, विद्यार्थियों, अभिभावकों, और आम लोगों द्वारा प्रतिभाग किया गया। विद्यालय के प्रधानाचार्य दिनेश प्रसाद डंगवाल ने कहा है कि स्कूली विद्यार्थियों, अभिभावकों व आम लोगों में पर्यावरण के प्रति जागरूकता और सामान्य ज्ञान अभिवृद्धि के उद्देश्य से विद्यालय के प्रवक्ता अर्थशास्त्र सुशील डोभाल द्वारा अपर निदेशक माध्यमिक शिक्षा गढ़वाल मंडल पौड़ी श्री महावीर सिंह बिष्ट, मुख्य शिक्षा अधिकारी टिहरी श्री शिव प्रसाद सेमवाल और खण्ड शिक्षा अधिकारी जाखणीधार श्री धनबीर सिंह के मार्गदर्शन में

नई टिहरी में 90 वर्षीय बुजुर्ग गजे सिंह श्रीकोटी ने कोरोना संक्रमण को मात देकर संकटकाल में दृढ़ इच्छाशक्ति और धैर्य का दिया अनूठा संदेश।

Image
एक ओर जहां कोविड-19 के कहर से आम लोग स्वयं को असुरक्षित मानते हुए भयभीत और तनावग्रस्त हैं वहीं नई टिहरी नगर के 90 वर्षीय बुजुर्ग गजे सिंह श्रीकोटी ने जीवन के लगभग अंतिम पड़ाव में कोरोना संक्रमण को अपनी दृढ़ इच्छाशक्ति से न केवल मात दी है बल्कि कोरोना संक्रमितों को अनूठी प्रेरणा भी दी है।        कोरोना की दूसरी लहर के कारण जहां आम लोगो में इसके संक्रमण को लेकर असुरक्षा और दहशत का माहौल बना है वहीं बुजुर्ग गजे सिंह श्रीकोटी पुत्र स्व० नारायण सिंह श्रीकोटी उर्म 90 वर्ष ,ग्राम पदोखा बासर, हाल निवासी सेक्टर 8D मकान न० 406 बौराडी नई टिहरी , टिहरी गढवाल ने अपनी मजबूत इच्छाशक्ति और संयमित जीवनशैली से कोरोना की जंग जीत कर उन लोगो को अनूठा संदेश दिया है जो इस बीमारी के संक्रमण के दौरान दहशत, घबराहट और तनाव से अपने जीवन को संकट में डाल रहे हैं। 90 वर्षीय गजे सिंह श्रीकोटी टिहरी जिले के ग्राम पदोखा बासर के निवासी है और कुछ समय पहले स्वास्थ्य खराब होने पर वे अपने पुत्र देवेंद्र सिंह के साथ बौराड़ी सैक्टर 8D के मकान संख्या 406  में रह रहे थे कि विगत दिनों उनका परिवार कोरोना संक्रमण की चपेट में आ गया था

डायट नई टिहरी द्वारा आयोजित वेबिनार में पीएम ई-विद्या कार्यक्रम की दी गयी जानकारी। मुख्य शिक्षा अधिकारी ने की डायट के कार्यो की सराहना।

Image
  जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान नई टिहरी में शैक्षिक गुणवत्ता में सुधार के लिए आयोजित वेबीनार में कोविड-19 के कारण बच्चों की शिक्षा दीक्षा में आए व्यवधान को सुचारू रूप से जारी रखने पर जोर दिया गया। इस दौरान मुख्य शिक्षा अधिकारी शिव प्रसाद सेमवाल ने सभी खंड शिक्षा अधिकारियों को डायट द्वारा विद्यार्थियों के लिए तैयार की गई विभिन्न प्रकार की पाठ्य सामग्री को विद्यालयों के माध्यम से बच्चों तक पहुंचाने के निर्देश दिए हैं।  कोविड-19 के कारण स्कूली बच्चों की पढ़ाई बाधित होने पर चिंता व्यक्त करते हुए डायट नई टिहरी द्वारा आयोजित वेबिनार में मुख्य शिक्षा अधिकारी शिव प्रसाद सेमवाल ने कहा है कि महामारी के कारण स्कूली बच्चों का पठन-पाठन बुरी तरह प्रभावित हुआ है। हालांकि विभागीय स्तर पर विभिन्न प्रकार से शैक्षिक व्यवधान की भरपाई करने का के पूरे प्रयास किए जा रहे हैं, किंतु ऑनलाइन शिक्षण में आने वाली विभिन्न समस्याओं के कारण ग्रामीण क्षेत्रों में बच्चों तक इसका पूरा लाभ नहीं पहुंच पा रहा है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के कारण जहां पूरी दुनिया अस्तव्यस्त हुई है वही इंसान ने कोविड-19 से बहुत कुछ सीख

Himwant readers