Posts

Showing posts with the label NEP-2020

Translate करें.

Atal Utkrisht Vidyalaya: उत्तराखंड में द्वितीय चरण में 135 अटल उत्कृष्ट विद्यालयों के चयन के लिए शिक्षा विभाग ने मांगी मुख्य शिक्षा अधिकारियों से आख्या।

Image
  महावीर सिंह बिष्ट, मंडलीय अपर निदेशक गढ़वाल शिक्षा निदेशालय ने द्वितीय चरण में अटल उत्कृष्ट विद्यालयों के चयन के लिए राज्य के 135 विद्यालयों से सीबीएसई ऐफिलेशन से संबंधित मानकों पर आख्या मांगी है। इससे पूर्व पहले चरण में राज्य के 89 विद्यालय अटल उत्कृष्ट राजकीय इंटर कॉलेजों के रूप में अस्तित्व में आ चुके हैं। प्रवेशोत्सव 2022-23: अपने स्कूल के लिए यहां से करें आकर्षक बैनर और पोस्टर डाउनलोड-      विद्यालई शिक्षा विभाग ने राज्य के सभी विकास खंडों से द्वितीय चरण के लिए 135 अटल उत्कृष्ट इंटर कॉलेजों  के चयन के लिए सीबीएसई एफिलेशन से संबंधित मानकों पर स्पष्ट आख्या मांगी है। उल्लेखनीय है कि उत्तराखंड सरकार के पिछले कार्यकाल में नई शिक्षा नीति 2020 के मानकों के अनुरूप राज्य में अटल उत्कृष्ट विद्यालयों के चयन के लिए प्रभावी कदम उठाते हुए कुल 89 इंटर कॉलेजों का चयन अटल उत्कृष्ट राजकीय इंटर कॉलेज के रूप में किया गया था। इनमें से अधिकतर विद्यालय विगत सत्र में सीबीएसई से सम्बद्ध हो चुके हैं जबकि कुछ विद्यालय मानक पूरे न कर पाने के कारण अभी भी विद्यालयी शिक्षा परिषद रामनगर से सम्बद्ध हैं। राज्य सर

Pariksha Pe Charcha 2022: प्रधानमंत्री मोदी 1 अप्रैल को करेंगे 'परीक्षा पे चर्चा', छात्रों से बातचीत कर परीक्षा का तनाव दूर करेंगे पीएम मोदी।

Image
 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 1 अप्रैल को 'परीक्षा पे चर्चा 2022' (Pariksha Pe Charcha 2022) कार्यक्रम में छात्रों, शिक्षकों और अभिभावकों के साथ बातचीत करेंगे। इस कार्यक्रम के जरिये प्रधानमंत्री मोदी ने लक्ष्य रखा है कि छात्र आगामी बोर्ड और विभिन्न प्रवेश परीक्षाओं को तनावमुक्त होकर दे सकें। 'परीक्षा पे चर्चा 2022' का पांचवां संस्करण तालकटोरा स्टेडियम, नई दिल्ली में आयोजित किया जा रहा है। PPC 2022  का 5वां संस्करण 1 अप्रैल 2022 को    छात्रों के लिए प्रधानमंत्री मोदी के लोकप्रिय कार्यक्रम PPC 2022 की तारीख और समय की घोषणा कर दी गयी है। शिक्षा मंत्रालय ने अपने ट्विटर हैंडल से लिखा, ''इंतजार अब खत्म हो गया है! #PPC2022 का 5वां संस्करण 1 अप्रैल, 2022 को तालकटोरा स्टेडियम, नई दिल्ली में आयोजित होने जा रहा है। माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी छात्रों के साथ बातचीत करेंगे और परीक्षा के तनाव को दूर करने के तरीके पर अपनी मन की बात साझा करेंगे। बने रहें!" 12 लाख से अधिक छात्रों ने किया है PPC 2022 के लिए रजिस्ट्रेशन   पीएम मोदी का परीक्षा पे चर्चा कार्यक्रम 2018 से प्रत

ISRO Young Scientist Programme 2023: 9वीं के छात्रों से इसरो ने ‘युवा विज्ञान कार्यक्रम’ के लिए मांगे आवेदन, जल्दी करें यहां ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन-

Image
YUVIKA 2023 ISRO Young Scientist Programme 2022: भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) ने कक्षा 9 के छात्रों के लिए “युवा विज्ञान कार्यक्रम” आरम्भ किया है। कार्यक्रम में देश भर से कक्षा 9 में अध्ययनरत छात्रों से इसरो ने आवेदन मांगे है। आवेदन की अंतिम तिथि 30 अप्रैल 2023 निर्धारित की गई है।  इच्छुक उम्मीदवारों को isro.gov.in/YUVIKA पर विजिट कर अपना रजिस्‍ट्रेशन करना होगा. भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन ने अपने लोकप्रिय कार्यक्रम युवा विज्ञान कार्यक्रम के लिए रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया आरंभ कर दी है। इसरो द्वारा प्रतिवर्ष देशभर में कक्षा 9 में पढ़ने वाले विद्यार्थियों के लिए YUVIKA कार्यक्रम संचालित किया जाता है। इस वर्ष इसरो द्वारा युवा विज्ञान कार्यक्रम में रजिस्ट्रेशन के लिए 30 अप्रैल की शाम 4:00 बजे तक आवेदन मांगे गए हैं। आवेदन की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। इस विशेष कार्यक्रम में कक्षा 9 के छात्र भाग ले सकते हैं। इसरो की वेबसाइट पर जारी किए गए निर्धारित मापदंडों पर देश भर में 150 छात्रों को चयनित करेगा। इस कार्यक्रम में ग्रामीण क्षेत्र के स्कूलों में पढ़ने वाले छात्रों को विशेष वेटेज द

राष्ट्रीय नई शिक्षा नीति 2020 के तहत डायट नई टिहरी ने किया गढ़वाली व जौनपुरी मातृभाषा संसाधन समूह का गठन, 23 विशेषज्ञों को समूह में किया नामित।

Image
    नई शिक्षा नीति 2020 के तहत प्राथमिक कक्षाओं में मातृभाषा के माध्यम से शिक्षण की सिफारिश को ध्यान में रखते हुए राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद उत्तराखंड के निर्देशों पर डायट नई टिहरी द्वारा गढ़वाली व जौनपुरी मातृभाषा संसाधन समूह गठित किया गया है। जनपद स्तरीय मातृभाषा संसाधन समूह में गढ़वाली व जौनपुरी भाषा की बेहतर समझ रखने वाले 23 विशेषज्ञ नामित किए गए हैं।    राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के तहत प्राथमिक कक्षाओं तक शिक्षण का माध्यम मातृभाषा रखे जाने पर जोर दिया गया है। राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद उत्तराखंड ने इस दिशा में गंभीरता दिखाते हुई राज्य के समस्त जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थानों को जनपद स्तरीय मातृभाषा संसाधन समूह गठित करने के निर्देश दिए हैं। राज्य के सभी जनपदों में बोली जाने वाली मातृभाषाओं व स्थानीय भाषाओं से संबंधित कुछ सूचनाओं का संकलन और सर्वेक्षण किया जाना है। इसके लिए सभी जिलों में मातृभाषा संसाधन समूह गठित किए जा रहे हैं। एससीईआरटी उत्तराखंड के निर्देशों पर जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान नई टिहरी ने जनपद टिहरी गढ़वाल में बोली जाने वाली ग

Himwant readers