Posts

Showing posts with the label डायट

Translate करें.

Board Exam Stress: 'परीक्षा- एक उत्सव' कार्यक्रम के माध्यम से दूर होगा उत्तराखंड में 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षार्थियों का परीक्षा को लेकर तनाव व दबाव, राज्य में 21 मार्च को सभी विद्यालयों में आयोजित होगा 'परीक्षा- एक उत्सव' कार्यक्रम, SCERT ने दिए निर्देश।

Image
 उत्तराखंड में दसवीं और बारहवीं बोर्ड परीक्षार्थियों को परीक्षा के तनाव व चिंता Board exam stress से दूर रखने के लिए परीक्षा एक उत्सव के रूप में आयोजित करने की तैयारी चल रही है। राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद ने इस दिशा में राज्य भर में 21 मार्च को 'परीक्षा एक उत्सव' कार्यक्रम के आयोजन के निर्देश दिए हैं। इस दिन विद्यालयों में बोर्ड परीक्षार्थियों में परीक्षा के दबाव और तनाव को दूर करने के लिए अनेक गतिविधियां आयोजित की जाएंगी।  राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद SCERT उत्तराखंड ने राज्य के सभी जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान DIET को बोर्ड परीक्षा संबंधी तनाव को दूर करने के लिए 'परीक्षा एक उत्सव' कार्यक्रम exam a celebration संचालित करने के निर्देश दिए हैं। निदेशक अकादमिक शोध एवं प्रशिक्षण उत्तराखंड आरके कुंवर ने कहा है कि कोविड-19 के कारण विद्यार्थियों का अध्ययन कार्य बाधित रहा है, जिस कारण उनमें परीक्षा को लेकर तनाव व चिंता बनी होना स्वाभाविक है। परीक्षार्थी परीक्षा के दिनों तनाव से मुक्त रहे, यह हम सभी का उद्देश्य है। उन्होंने कहा है की बोर्ड परी

डायट नई टिहरी में पांच दिवसीय कार्यशाला में प्राथमिक शिक्षकों ने किया अनेक रोचक गतिविधियों का अभ्यास।

Image
   जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान नई टिहरी में प्रारंभिक शिक्षकों के लिए पाठ्य सहगामी क्रियाकलाप  व प्रार्थनासभा आदि कार्यक्रमो के संचालन पर पांच दिवसीय कार्यशाला आयोजित की जा रही है। कार्यशाला में संस्थान द्वारा विकसित किए गए साउंड ट्रेक का अभ्यास शिक्षकों से करवाया जा रहा है, जिससे विद्यालयों में प्रार्थना सभा को एकरूपता देते हुए रुचिकर और आकर्षक बनाया जा सकेगा। प्राथमिक कक्षाओं के बच्चों को विद्यालय में रुचिकर माहौल उपलब्ध कराने के लिए आर्ट और क्राफ्ट के माध्यम से अनेक बालोपयोगी सामग्री भी तैयार करवाई जा रही है।        जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान नई टिहरी में प्राथमिक विद्यालय में कार्यरत शिक्षकों के लिए दिनों दिनों पांच दिवसीय कार्यशाला चल रही है। इस कार्यशाला में प्राथमिक कक्षाओं में पढ़ने वाले बच्चों के लिए विद्यालयों में रुचिकर एवं आनंददायक माहौल बनाने के लिए शिक्षकों से आर्ट और क्राफ्ट के माध्यम से अनेक गतिविधियां आयोजित करवाई जा रही हैं। साथ ही विद्यालय में आयोजित होने वाली प्रार्थना सभा को रुचिकर बनाने के लिए विभिन्न प्रार्थना और समूह गान आदि के साउंड ट्रैक तैयार किए

“कोरोनाकाल में ऑनलाइन शिक्षण के प्रभावी प्रस्तुतीकरण” विषय पर डायट नई टिहरी में संपन्न हुआ नवाचारी शिक्षको का दो दिवसीय सेमीनार. कार्यक्रम में कई शिक्षकों ने दी शानदार प्रस्तुतियां और उपयोगी सुझाव.

Image
      जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान नई टिहरी में दिनांक 18 व 19 जनवरी 20 21 को दो दिवसीय सेमिनार का उद्घाटन दीप प्रज्वलित कर डाइट के प्रभारी प्राचार्य प्रमोद कुमार गुधेनिया, जिला शिक्षा अधिकारी प्रारंभिक शिक्षा सुदर्शन सिंह बिष्ट, गढ़वाल केंद्रीय विश्वविद्यालय शिक्षा संकाय की प्रोफेसर सुनीता गोदियाल तथा समाजसेवी महिपाल सिंह नेगी ने संयुक्त रूप से किया. कोविड- 19 के दौरान शिक्षकों के द्वारा ऑनलाइन शिक्षण के लिए प्रयुक्त प्रभावकारी तकनीक विषय पर आधारित दो दिवसीय सेमिनार में जनपद टिहरी गढ़वाल की प्रत्येक विकासखंड से पांच पांच   शिक्षकों ने प्रतिभाग किया. यह वे शिक्षक हैं जिनके द्द्वारा कोविड- 19  के संकट के दौरान ऑनलाइन शिक्षण में बेहतरीन कार्य किया गया हैं.       कोविड- 19 के दौरान जब विद्यालय बंद रहे तब छात्रों को शिक्षण से जुड़े रखने एवं पढ़ाई नियमित रखने हेतु इन शिक्षकों ने जो नवाचारी प्रयास किए उनका प्रभावकारी प्रस्तुतीकरण   डायट सभागार में इस समिनार के दौरान किया गया. ऑफलाइन शिक्षण को ऑनलाइन शिक्षण में बदलने की चुनौती को स्वीकार कर इन नवाचारी शिक्षकों ने कोरोनाकाल में शिक्षण कार

डायट नई टिहरी में आयोजित नवाचारी शिक्षकों के सेमिनार में ऑनलाइन शिक्षण पर शिक्षकों ने दी शानदार प्रस्तुतियां।

Image
     जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान नई टिहरी में जनपद के नवाचारी शिक्षकों के दो दिवसीय सेमिनार में पहुंचे नवाचारी शिक्षकों ने कोविड-19 के कारण विद्यालयों के बंद रहने के दौरान छात्रों के लिए ऑनलाइन माध्यम से शिक्षण के अपने अनुभव बांटे। इस अवसर पर कोरोनाकाल में ऑनलाइन शिक्षण के क्षेत्र में बेहतरीन कार्य करने वाले शिक्षकों ने पीपीटी और वीडियो स्लाइड के द्वारा अपने नवाचारी कार्यो का रोचक ढंग से प्रस्तुतिकरण किया। इस अवसर पर डायट द्वारा आमंत्रित विशेषज्ञों ने सेमिनार में शामिल शिक्षकों को अनेक उपयोगी सुझाव दिए।  जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान नई टिहरी द्वारा जनपद के नवाचारी शिक्षकों के लिए आयोजित दो दिवसीय सेमिनार के प्रथम दिवस आज जिले के विभिन्न प्राथमिक, उच्च प्राथमिक और इंटर कॉलेजों के शिक्षकों ने कोरोनाकाल में प्रयोग किये गए ऑनलाइन शिक्षण विधाओं पर अपना अनुभव सांझा किया। उल्लेखनीय है कि कोरोना वायरस के जोखिम के कारण स्कूल कॉलेज बन्द रहने के दौरान शिक्षकों द्वारा विभिन्न ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर शिक्षण के साथ ही अनेक नवाचारी कार्य सम्पन्न किये जा रहे हैं। मौजूदा परिस्थितियों में ऑनलाइन

वेलनेश एम्बेस्डर्स प्रशिक्षण के समापन पर शिक्षक नरेंद्र सिंह भंडारी ने प्रस्तुत की शानदार रिपोर्ट।

Image
 आयुष्मान भारत "प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना" के अंतर्गत 26.12.2020 से 30.12.2020 तक चलने वाला संस्थाध्यक्षों और health and wellness ambassadors के रुप में शिक्षकों का पांच दिवसीय प्रशिक्षण 30.12.2020 को विधिवत सम्पन्न हुआ। इस प्रशिक्षण को सफल बनाने में विशेषकर संदर्भ दाताओं, टैकनीकल स्टाफ, बी.ई.ओ.सर, डोभाल सर, व शिक्षक-शिक्षकाओं एक का नाम न लेते हुए जिन्होंने अनुशासित, संयमित, विधिवत,तिथिवद्ध  व क्रमवद्व  भाग लिया वे सभी बधाई के पात्र हैं, आप सभी ने इस प्रशिक्षण को शत् प्रतिशत सफल बनाने में सहयोग दिया। इस प्रशिक्षण में कई महत्वपूर्ण विंदुओ चर्चा हुई व महत्वपूर्ण जानकारियां साझा की गई। इसके लिए सभी का बहुत-बहुत धन्यवाद व नववर्ष की अग्रिम हार्दिक शुभकामनाएं।        प्रशिक्षण प्रथम सत्र= आज प्रथम सत्र के माड्यूल के अंतर्गत इंटरनेट एवं शोशल मीडिया में सुरक्षित उपयोग को बढ़ावा देना विषय पर विस्तृत रूप से चर्चा की गई।इसका संचालन संदर्भ दाता श्री प्रवेश चंद्र जोशी जी द्वारा बहुत ही सरल व सटीक ढंग से किया गया। जो बहुत ही प्रभावशाली रह।  संदर्भ दाता द्वारा शोशल मीडिया का उपयोग, उसके

प्रधानाचार्यो के अभिमुखीकरण कार्यक्रम पर आदर्श उच्च प्राथमिक विद्यालय रतोली के प्रधानाध्यापक जीपी सेमल्टी ने प्रस्तुत की सराहनीय रिपोर्ट।

Image
    आज दिनांक 29 दिसम्बर 2020को स्कूल हेल्थ प्रोग्राम के अंतर्गत जाखणीधार के  सभी उच्च प्राथमिक, हाईस्कूल एवं इंटर कॉलेजों के हेड टीचर/प्रधानाध्यापक एवं प्रधानाचार्य /संस्थाध्यक्षो का अभिमुखीकरण कार्यक्रम के तहत सन्दर्भदाता श्री सुशील डोभाल द्वारा SHP के उद्देश्यों पर विस्तार से चर्चा की गई। स्वास्थ्य पोषण की उचित जानकारी, स्वच्छ व्यवहार एवं आचरण पर विशेष ध्यान देना, तथा इस संदर्भ में हैल्थ वैलनेस एम्बेसडर के कार्यों एवं दायित्वों में टीम भावना से अपने विद्यालय के बच्चों के  शारिरिक एवं मानसिक स्वास्थ्य सुधार को हम क्या क्या प्रयास करसकते हैं पर विशेष चर्चा की गयी।  इस दौरान स्कूली बच्चों को नशा एवं व्यसनों के दुष्प्रभाव बताकर उन्हें योग एवं साधना के लिए जागरूक करने पर जोर दिया गया । उन्होंने बताया कि Rbsk की टीम को बच्चों का इलेक्ट्रॉनिक डेटा तैयार करने हेतु स्वास्थ्य पंजिका बनाकर सहयोग करना होगा। पूर्व से ही बच्चों को आयरन, एल्बेंडाजोल की टेबलेट का वर्ष में दो बार नियमित खिलाई जा रही हैं। आयुष्मान कार्यक्रम के तहत हैल्थ एम्बेसडर द्वारा 11 मॉड्यूल पूर्ण कर विद्यालय स्तर पर बाल स्वास्थ

स्कूल हेल्थ पोरोग्राम के प्रशिक्षण कार्यक्रम में शिक्षक विजय कुमार अवस्थी ने प्रस्तुत की शानदार रिपोर्ट।

Image
आयुष्मान भारत के अंतर्गत 26 से 30 दिसम्बर 2020 तक चलने वाली 'वेलनेस अम्बेसडर ऑनलाइन कार्यशाला' का आज चतुर्थ दिवस रहा, जिसके प्रथम सत्र में मादक पदार्थ के दुरुपयोग जानकारी व रोकथाम विषय पर चर्चा हुई, जिसका  संचालन श्री राकेश शाह जी सन्दर्भदाता महोदय द्वारा ठीक 11:00 बजे प्रातः प्रारम्भ कर दिया गया। इसमें अधिकांश प्रतिभागियों ने समय के महत्व को समझते हुए नियत समय पर अपनी उपस्थिति सुनिश्चित की।       इस सत्र में सन्दर्भदाता श्री शाह जी द्वारा  मादक पदार्थों के प्रकार, स्वास्थ्य पर इनके कुप्रभाव  किशोरावस्था के बालकों को मादक पदार्थो से कैसे दूर रखा जाय तथा जो  लोग इसके आदी हो गए  हों उनको कैसे इससे छुटकारा दिलाया जा सकता है  पर चर्चा -परिचर्चा करवाई गई।। सन्दर्भदाता श्रीशाह जी द्वारा उक्त बिन्दुओं के विस्तृत विवेचन हेतु विभिन्न गतिविधियों के द्वारा वाचनकर पर्याप्त द्विपक्षीय क्रिया-प्रतिक्रियाएं भी पूरे सत्रकाल के दौरान आमंत्रित की जाती रहीं। सत्र में उपस्थित विभिन्न प्रतिभागियों के साथ ही साथ सर्वश्री/श्रीमती नीलम नेगी यशपाल रावत , दिनेश बिष्ट, यजवीर सिंह, प्रमोद रावत ,शिवम डंगवा

स्कूल हेल्थ पोरोग्राम की प्रशिक्षण रिपोर्ट में शिक्षिका ऊषा पोखरियाल ने दिया यह शानदार संदेश।

Image
 आयुष्मान भारत प्रशिक्षण कार्यक्रम के अंतर्गत पांच दिवसीय आनलाइन कार्यशाला का आज तृतीय दिवस था। प्रशिक्षण का शुभारंभ गुरुजनों के आपसी अभिवादन के साथ हुआ। आज 28 दिसंबर के माड्यूल का विषय "जैंडर समानता"तथा सन्दर्भ दाता श्री राकेश कुमार शाह जी रहे। इस विषय के अन्तर्गत लिंग, जैंडर तथा ट्रांसजेंडर पर परिचर्चा की गई।         जैंडर रूढ़िवादिता का समाज पर प्रभाव, जैंडर रूढ़िवादिता और विज्ञापन, जैंडर आधारित भेदभाव से कैसे निपटें, जैंडर आधारित हिंसा पहचान और निवारण इन सभी तथ्यों पर  चर्चा की गई। इससे हमने सीखा की परिवार के सभी सदस्यों को मिल जुल कर बिना किसी भेदभाव के सभी कार्य करने चाहिए। तत्पश्चात सन्दर्भ दाता श्री प्रवेश जोशी जी द्वारा "पोषण, स्वास्थ्य और स्वच्छता " सम्बन्धी माड्यूल का प्रस्तुतीकरण किया गया। जिसके अंतर्गत किशोरावस्था और पोषण संबंधी आवश्यकताएं, संतुलित आहार पिरामिड, मध्याह्न भोजन योजना, व्यक्तिगत स्वच्छता, स्वस्थ आदतें प्रश्नोतरी,स्वच्छता और स्वास्थ्य,5 F, स्वच्छ भारत अभियान, ख़ून की कमी - कारण, निवारण और प्रबंधन, आयरन फोलिक एसिड आदि पर चर्चा परिचर्चा की गई

जाखणीधार ब्लॉक में वेलनेश एम्बेस्डर्स के प्रशिक्षण के पहले दिन शिक्षक दिनेश रावत ने प्रस्तुत की आख्या

Image
 स्कूल हेल्थ प्रोग्राम अंडर आयुष्मान भारत के अंतर्गत वैलनेस एम्बेसडर प्रशिक्षण के प्रथम दिवस दिनांक 26/12/ 2020 को ऑनलाइन प्रशिक्षण गूगल मीट के माध्यम से प्रातः 11:00 बजे आरंभ किया गया, कार्यक्रम के संचालन श्री सुशील डोभाल जी ने किया तथा उनके साथ संदर्भदाता श्री मनमोहन कठैत जी एवं श्री प्रवेश जोशी जी तथा राकेश शाह जी भी मौजूद रहे। इस अवसर पर डोभाल जी द्वारा ऑनलाइन प्रशिक्षण हेतु गूगल मीट लिंक समय पूर्व ही संबंधित प्रशिक्षण ग्रुप में प्रेषित कर दिया था जिससे सभी शिक्षक/ शिक्षिकाएं बिना किसी परेशानी के ऑनलाइन प्रशिक्षण में शामिल हो गए,और सभी शिक्षक साथियों द्वारा ससमय ऑनलाइन प्रशिक्षण को ज्वाइन कर लिया गया, किसी को भी किसी प्रकार की परेशानी नहीं हुई इसके लिए श्री डोभाल जी एवं समस्त प्रशिक्षणदाता टीम को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं। *संदर्भदाता श्री मनमोहन कठैतजी*  कठैत जी द्वारा सभी के ऑनलाइन होने के पश्चात निर्धारित पाठ्यक्रम के आधार पर प्रशिक्षण प्रारंभ किया गया जिस के मुख्य बिंदु निम्न वत रहे   (1) स्वास्थ्य क्या है  (2)दिए गए प्रशिक्षण की पृष्ठभूमि का विस्तृत विवरण (3)किशोरावस्था का आ

DIET टिहरी में आयुष्मान भारत कार्यक्रम के अंतर्गत हेल्थ एंड वेलनेस एम्बेसडर्स लेंगे पांच दिवसीय प्रशिक्षण.

Image
         टिहरी  जिले में स्कूली बच्चों के स्वास्थ्य व पोषण स्तर की सामूहिक भूमिका को लेकर केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय व शिक्षा मंत्रालय द्वारा संयुक्त रूप से कार्यक्रम शुरू किया जा रहा है। स्कूल स्वास्थ्य कार्यक्रम के तहत प्रत्येक विद्यालय के एक महिला व एक पुरुष शिक्षक को हेल्थ एंड वेलनेस एम्बेसडर के रूप में नामित किया जायेगा। जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान नई टिहरी में इसके लिए सभी विकासखंडो से चार-चार शिक्षको को मास्टर ट्रेनर के रूप में पांच दिवसीय प्रशिक्षण दिया जाना है. प्रशिक्षण लेने के बाद यह शिक्षक अपने विकासखंडो के सभी विद्यालयों के प्रधानाचार्यों और दो-दो शिक्षकों को प्रशिक्षण देंगे.        स्कूली बच्चों के स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्याओं के निदान व रोगों की रोकथाम के लिए जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान नई टिहरी में मास्टर ट्रेनर्स का पांच दिवसीय प्रशिक्षण 19 से 23 दिसंबर तक आयोजित किया जा रहा है. प्रशिक्षण लेने वाले शिक्षकों को 18 दिसंबर को डाइट पहुँच कर प्रशिक्षण के लिए अपना पंजीकरण करवाना होगा. इस कार्यक्रम के अंतर्गत जनपद के प्रत्येक ब्लॉक से एक एक शि

राष्ट्रीय उर्जा दिवस पर जनपद टिहरी के स्कूली बच्चों के लिए "हिमवंत'' पर आयोजित होंगी ऑनलाइन प्रतियोगिताएं, चित्रकला, निबंध और क्विज प्रतियोगिताओं के माध्यम से विद्यार्थी देंगे ऊर्जा संरक्षण का सन्देश.

Image
    राष्ट्रीय उर्जा संरक्षण दिवस पर जनपद टिहरी गढ़वाल के स्कूली बच्चों के लिए विभिन्न ऑनलाइन प्रतियोगिताये आयोजित की जायेंगी. उक्त आशय की जानकारी देते हुए मुख्य शिक्षा अधिकारी एसपी सेमवाल ने कहा है की ऊर्जा संरक्षण को लेकर विद्यार्थियों सहित आमलोगों के बीच जागरूकता लाने के उद्देश्य से प्रतिवर्ष 14 दिसंबर को विभिन्न प्रतियोगिताये आयोजित की जाती है. इस वर्ष की विशेष परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए यह प्रतियोगिताएं ऑनलाइन मोड़ में आयोजित की जा रही है. उन्होंने सभी विद्यालयों से विद्यार्थियों को प्रतिभाग करवाने के निर्देश दिए हैं.        धरती पर परंपरागत ऊर्जा के स्रोत सीमित मात्रा में ही उपलब्ध होने की वजह से यह महत्वपूर्ण है कि हम अपनी मौजूदा ऊर्जा आपूर्ति को संरक्षित करें या नवीनीकृत स्रोतों का इस्तेमाल करें , ताकि हमारे प्राकृतिक संसाधन भावी पीढ़ियों के लिए भी उपलब्ध हो सके। इसी उद्देश्य के साथ प्रतिवर्ष 14 दिसम्बर को ऊर्जा संरक्षण दिवस मनाया जाता है। भारत सरकार के ऊर्जा मंत्रालय द्वारा शुरू किया गया यह एक राष्ट्रीय जागरूकता अभियान है। स्कूली विद्यार्थियों के लिये कई स्तरों पर विभिन्न

वैश्विक महामारी के दौर में शिक्षकों, विद्यार्थियों और आमलोगों को हौसला दे रहे हैं अपर निदेशक माध्यमिक, महाबीर सिंह बिष्ट।

Image
वैश्विक महामारी covid-19 के प्रभाव ने जहां आमलोगों को घरों में कैद कर दिया है वही विद्यलयी शिक्षा विभाग के एक अधिकारी सोशल मीडिया सहित विभिन्न माध्यमो से न केवल शिक्षकों, विद्यार्थियों और आम नौजवानों से संवाद कायम कर बदले हालातों के साथ तालमेल बनाते हुए निरन्तर आगे बढ़ने की प्रेरणा दे रहे है। हम बात कर रहे विद्यालयी शिक्षा विभाग में बतौर मंडलीय अपर निदेशक महावीर सिंह बिष्ट की, जो कोरोनाकाल में न सिर्फ शिक्षकों को ऑनलाइन शिक्षण में आधुनिक सूचना तकनीकी का प्रयोग करने के लिए प्रेरित करते रहे हैं बल्कि स्कूली बच्चों के साथ भी सोशल मीडिया के माध्यम से रूबरू होते हैं। रविबार 28 जून को अपर निदेशक बिष्ट चमोली, रुद्रप्रयाग, टिहरी और पौड़ी के सैकड़ो शिक्षकों के साथ माइक्रोसॉफ्ट टीम्स ऐप के माध्यम से संवाद कायम करेंगे।     अपर निदेशक माध्यमिक शिक्षा, गढ़वाल मंडल महावीर सिंह बिष्ट कोरोना वायरस के कारण देशभर में लगाये गए लॉकडाउन के दौरान सोशल मीडिया पर न केवल शिक्षकों को विभिन्न नवाचारों के माध्यम से ऑनलाइन शिक्षण के लिए प्रेरित करते रहे बल्कि स्कूल कॉलेज बन्द रहने पर चिंतित बच्चों और अभिभावकों क

25 फरवरी तक बढ़ाई गयी प्री-मैट्रिक और पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप आवेदन की तिथि। नेशनल स्कॉलरशिप पोर्टल पर ऑनलाइन करना होगा आवेदन।

Image
उत्तराखंड सरकार प्रदेश के स्थायी निवासी छात्रों की पढ़ाई जारी रखने के लिए प्री मैट्रिक और पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति योजना का संचालन करती आ रही है। प्री मैट्रिक स्कॉलरशिप के अंतर्गत दसवी तक था तथा पोस्ट मैट्रिक योजना में कक्षा 10 से आगे के छात्र आवेदन कर सकते है।  पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति योजना का लाभ अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग एवं विकलांग छात्र/छात्रा ही ले सकते हैं.  समाज के वंचित तबके को पढ़ाई में मदद करने के लिए राज्य सरकार की इस योजना का लाभ जिला समाज कल्याण अधिकारी के माध्यम से लिया जा सकता है. इन योजनाओं के लिए आवेदन की अंतिम तिथि 10 फरवरी निर्धारित थी किन्तु बड़ी संख्या में आवेदकों के आवेदन न कर पाने के कारण समाज कल्याण विभाग ने छूटे हुए लाभार्थियों को अंतिम मौका देने के लिए ऑनलाइन आवेदन की अंतिम तिथि 25 फरवरी तक बढ़ा  ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया जानने के लिए यहां करे क्लिक।  Click Here

टिहरी की शालासिद्धि टीम को मुख्य शिक्षा अधिकारी शिव प्रसाद सेमवाल ने किया सम्मानित। ई-पत्रिका "हिमवंत" की भी जमकर की सराहना।

Image
शालासिद्धि कार्यक्रम में गत वर्ष शतप्रतिशत विद्यालयों से स्वमूल्यांकन का लक्ष्य प्राप्त करने और राज्य में जनपद टिहरी गढ़वाल को इस कार्यक्रम में प्रथम स्थान पर लाने पर कार्यक्रम के सयोजकों को कृषि मंत्री के प्रतिनिधि पालिकाध्यक्ष नरेंद्रनगर तथा मुख्य शिक्षा अधिकारी ने सम्मानित किया। इस मौके पर मुख्य शिक्षा अधिकारी ने  ई-पत्रिका "हिमवंत" के लिए शिक्षक सुशील डोभाल के प्रयासों सहित बेहतर कार्य करने वाले कई शिक्षकों की सराहना की है। शाला सिद्धि बाह्य मूल्यांकन की प्रक्रिया जानने के लिए यहां करें क्लिक। जनपद स्तरीय इंस्पायर अवार्ड प्रतियोगिता के समापन के अवसर पर कृषि मंत्री के प्रतिनिधि व पालिकाध्यक्ष नरेंद्रनगर राजेन्द्र विक्रम सिंह तथा  मुख्य शिक्षा अधिकारी शिव प्रसाद सेमवाल ने कहा कि राष्ट्रीय स्तर पर संचालित शालासिद्धि स्वमूल्यांकन कार्यक्रम में टिहरी की टीम द्वारा उत्कृष्ट कार्य करने पर टिहरी जिले को राष्ट्रिय स्तर पर पहचान मिली है और इसके लिए सीमेंट को राष्ट्रीय स्तर का अवार्ड भी मिल पाया है। उन्होंने शालासिद्धि के जिला प्रभारी मुकेश डोभाल की सराहना करते हुए आशा व्य

इंस्पायर अवार्ड राज्य स्तरीय प्रतियोगिता के लिए टिहरी के 32 बाल वैज्ञानिकों का चयन। चयनित छात्रों व शिक्षकों को मुख्य शिक्षा अधिकारी ने किया सम्मानित।

Image
    इंस्पायर अवार्ड राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में टिहरी जिले के विभिन्न विद्यालयों के 32 बाल वैज्ञानिक अपने मॉडल्स के साथ प्रतियोगिता में हिस्सा लेंगे। नरेंद्रनगर में आज सम्पन्न हुई जनपद स्तरीय प्रतियोगिता के अंतिम चरण में इन प्रतिभागियों के चयन किया गया। इस मौके पर मुख्य अतिथि कृषि मंत्री सुबोध उनियाल के प्रतिनिधि व पालिकाध्यक्ष राजेन्द्र विक्रम सिंह तथा मुख्य शिक्षा अधिकारी शिव प्रसाद सेमवाल ने विज्ञान प्रतियोगिताओ में अच्छा प्रदर्शन करने वाले शिक्षकों और इंस्पायर अवार्ड कोर्डिनेटर्स को सम्मानित किया। शालासिद्धि बाह्य मूल्यांकन की प्रक्रिया समझने के लिए यहां क्लिक करें। जनपद स्तरीय इंस्पायर अवार्ड मॉडल प्रदर्शनी एवं प्रतियोगिता के समापन के अवसर पर मुख्य अतिथि कृषि मंत्री सुबोध उनियाल के प्रतिनिधि एवं पालिकाध्यक्ष नरेंद्रनगर राजेन्द्र विक्रम सिंह ने अपने अनुभव प्रतिभागी बच्चों के साथ बांटते हुए उन्हें शुभकामनाएं दी है इस मौके पर मुख्य शिक्षा अधिकारी शिव प्रसाद सेमवाल और पालिकाध्यक्ष ने गतवर्ष राज्य एवं राष्टीय प्रतियोगिता में प्रतिभाग करने वाले 20 छात्रों सहित इंस्पायर अव

Himwant readers