Translate करें.

Breaking News: 33 घंटे तक मौत से लड़ती रही शिक्षिका और फिर हार गई जिंदगी की जंग, एकतरफा प्यार में छात्र ने मारी थी गोली

अपने ही संस्थान के छात्र की सनक की शिकार हुई शिक्षिका ने कभी सोचा भी न होगा की उसका यह हस्र होगा। शिक्षिका ने 32 घंटे 51 मिनट तक मौत से जंग लड़ी। लेकिन आखिर वह जिंदगी से जंग हार गई। शिक्षिका की मेरठ में उपचार के दौरान मौत हो गई। घटना उत्तरप्रदेश के बिजनौर की है। जहां छात्र ने एकतरफा प्यार में टीचर को गोली मारी दी थी।
    शरीर में फंसी गोली से कराह रही शिक्षिका डाॅक्टर से बचाने की गुहार लगाते-लगाते 32 घंटे 51 मिनट तक मौत से लड़ती रहीं। मगर, डाॅक्टर भी उसे बचा नहीं सके। ऑपरेशन होने के बाद भी उसकी गोली को निकाला नहीं जा सका था। आखिरकार वह जिंदगी की जंग हारकर दुनिया को अलविदा कह गई। कसूर सिर्फ इतना था कि उसने एकतरफा प्यार करने वाले अपने ही छात्र का प्रपोज स्वीकार नहीं किया था।
बिजनौर में शुक्रवार को हर रोज की तरह शहर के मोहल्ला निवासी 25 वर्षीय युवती कंप्यूटर सेंटर में विद्यार्थियों को पढ़ाने के लिए पहुंची थी। तभी कुछ ही देर बाद पुन: अभ्यास के नाम पर कक्षा में घुसे छात्र प्रशांत पुत्र लवकुश निवासी शादीपुर ने तमंचे से गोली मार दी और फरार हो गया। शिक्षिका को अस्पताल ले जाया गया, जहां से उसे मेरठ रेफर कर दिया गया था। 
वहीं, शुक्रवार को ही उसका ऑपरेशन किया गया। काफी खून बह जाने की वजह से उसे खून भी दिया गया। इलाज के दौरान खून बहना तो बंद हो गया था, मगर गोली को नहीं निकाला जा सका था। करीब 32 घंटे 51 मिनट तक जिंदगी और मौत के बीच जूझने के बाद उसने दम तोड़ दिया। उधर, पुलिस की पूछताछ में आरोपी ने बताया कि उसने वारदात में प्रयुक्त तमंचा चार साल पहले युवक रचित से खरीदा था। पुलिस आरोपी प्रशांत के पिता लवकुश को भी हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है।शनिवार को शहर कोतवाली पुलिस ने पकड़े गए आरोपी का चालान जानलेवा हमले की धाराओं में किया गया। दरअसल, चालान होने के समय तक शिक्षिका अस्पताल में भर्ती और जिंदा थी। चालान होने के कुछ घंटे बाद ही शिक्षिका की मौत की खबर पहुंच गई। अब पुलिस जानलेवा हमले के केस को हत्या की धारा में तरमीम करेगी।
    छात्र प्रशांत कंप्यूटर सेंटर में कोर्स करने के पहुंचा था, जिसका कोर्स साल 2022 में पूरा हो गया। इसी बीच वह शिक्षिका से एकतरफा प्यार करने लगा था। कई बार उसने प्रपोज किया, मगर हर बार शिक्षिका मना कर देती थी। कंप्यूटर सेंटर की कक्षा में घुसकर शिक्षिका को गोली मारने के बाद से ही विद्यार्थियों में खौफ पैदा हो गया था। यहीं कारण रहा कि शनिवार को सेंटर की कक्षाओं में छात्र-छात्राओं की उपस्थिति कम नजर आई। वहीं शिक्षक शिक्षिकाओं के बीच भी इस वारदात को लेकर चर्चाएं होती रहीं।

Comments

Himwant readers

यह भी पढ़ें

School prayer: स्कूल के लिए 20 प्रसिद्ध प्रार्थना, जो बना देंगी विद्यार्थियों का जीवन सफल

Uttarakhand School Education: सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के बाद इन शिक्षकों की सेवाए हो रही हैं समाप्त, विभाग ने जारी किए यह निर्देश,

NEP 2020: FLN क्या है और इसके क्या उद्देश्य हैं? यहां पढ़ें।

DIET New Tehri: जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान नई टिहरी में पीएम श्री स्कूलों के प्रधानाचार्य और शिक्षकों की तीन दिवसीय क्षमता संवर्धन कार्यशाला हुई संपन्न, मुख्य शिक्षा अधिकारी एसपी सेमवाल और डायट प्राचार्य हेमलता भट्ट ने की इन स्कूलों को 21वीं सदी की आवश्यकताओं के लिए तैयार करने की अपील

Best 50+ Facebook Stylish Bio For Boys Attitude 2023

Uttarakhand PM SHRI Schools: केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय की एडवाइजरी और शिक्षकों के प्रशिक्षण पर भारी भरकम निवेश के बावजूद भी क्यों हो रहा है PM SHRI School शिक्षकों का अनिवार्य स्थानांतरण? ऐसे में कैसे लक्ष्य तक पहुंच पाएंगे उत्तराखंड के PM SHRI Schools

NCC A, B and C certificate: Exam notes- Full Forms

PowerPoint Presentation in Hindi: पॉवर पॉइंट प्रेजेंटेशन PPT कैसे बनायें

Mukhyamantri Medhavi Chhatra Protsahan Yojana: उत्तराखंड मुख्यमंत्री मेधावी छात्र प्रोत्साहन योजना के लिए ऐसे करें आवेदन

Uttarakhand Meritorious Scholarship: मुख्यमंत्री मेधावी छात्र प्रोत्साहन छात्रवृत्ति योजना परीक्षा 2023-24 के प्रश्न पत्र यहां से करें डाउनलोड