Posts

विश्व पर्यावरण दिवस के मौके पर अटल उत्कृष्ट विद्यालय जाखणीधार के शिक्षक सुशील डोभाल ने ऑनलाइन क्विज प्रयियोगिता का आयोजन कर दिया पर्यावरण संरक्षण का संदेश। उत्तराखंड सहित कई राज्यो के प्रतिभागी हुए प्रयियोगिता में शामिल।

Image
  अटल उत्कृष्ट राजकीय इंटर कॉलेज जाखणीधार टिहरी गढ़वाल द्वारा विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर ऑनलाइन क्विज प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। इस प्रतियोगिता में उत्तराखंड सहित उत्तर प्रदेश और निकटवर्ती राज्यों की डेढ़ हजार से अधिक प्रतिभागियों ने प्रतियोगिता में प्रतिभाग किया है।      टिहरी गढ़वाल के विकासखंड जाखणीधार के अंतर्गत अटल उत्कृष्ट राजकीय इंटर कॉलेज जाखणीधार द्वारा विश्व पर्यावरण दिवस के मौके पर  ऑनलाइन क्विज प्रतियोगिता आयोजित की गयी, जिसमें सुबह 9:00 बजे से लेकर रात्रि के 9:00 बजे तक करीब डेढ़ हजार से अधिक शिक्षकों, विद्यार्थियों, अभिभावकों, और आम लोगों द्वारा प्रतिभाग किया गया। विद्यालय के प्रधानाचार्य दिनेश प्रसाद डंगवाल ने कहा है कि स्कूली विद्यार्थियों, अभिभावकों व आम लोगों में पर्यावरण के प्रति जागरूकता और सामान्य ज्ञान अभिवृद्धि के उद्देश्य से विद्यालय के प्रवक्ता अर्थशास्त्र सुशील डोभाल द्वारा अपर निदेशक माध्यमिक शिक्षा गढ़वाल मंडल पौड़ी श्री महावीर सिंह बिष्ट, मुख्य शिक्षा अधिकारी टिहरी श्री शिव प्रसाद सेमवाल और खण्ड शिक्षा अधिकारी जाखणीधार श्री धनबीर सिंह के मार्गदर्शन में

नई टिहरी में 90 वर्षीय बुजुर्ग गजे सिंह श्रीकोटी ने कोरोना संक्रमण को मात देकर संकटकाल में दृढ़ इच्छाशक्ति और धैर्य का दिया अनूठा संदेश।

Image
एक ओर जहां कोविड-19 के कहर से आम लोग स्वयं को असुरक्षित मानते हुए भयभीत और तनावग्रस्त हैं वहीं नई टिहरी नगर के 90 वर्षीय बुजुर्ग गजे सिंह श्रीकोटी ने जीवन के लगभग अंतिम पड़ाव में कोरोना संक्रमण को अपनी दृढ़ इच्छाशक्ति से न केवल मात दी है बल्कि कोरोना संक्रमितों को अनूठी प्रेरणा भी दी है।        कोरोना की दूसरी लहर के कारण जहां आम लोगो में इसके संक्रमण को लेकर असुरक्षा और दहशत का माहौल बना है वहीं बुजुर्ग गजे सिंह श्रीकोटी पुत्र स्व० नारायण सिंह श्रीकोटी उर्म 90 वर्ष ,ग्राम पदोखा बासर, हाल निवासी सेक्टर 8D मकान न० 406 बौराडी नई टिहरी , टिहरी गढवाल ने अपनी मजबूत इच्छाशक्ति और संयमित जीवनशैली से कोरोना की जंग जीत कर उन लोगो को अनूठा संदेश दिया है जो इस बीमारी के संक्रमण के दौरान दहशत, घबराहट और तनाव से अपने जीवन को संकट में डाल रहे हैं। 90 वर्षीय गजे सिंह श्रीकोटी टिहरी जिले के ग्राम पदोखा बासर के निवासी है और कुछ समय पहले स्वास्थ्य खराब होने पर वे अपने पुत्र देवेंद्र सिंह के साथ बौराड़ी सैक्टर 8D के मकान संख्या 406  में रह रहे थे कि विगत दिनों उनका परिवार कोरोना संक्रमण की चपेट में आ गया था

डायट नई टिहरी द्वारा आयोजित वेबिनार में पीएम ई-विद्या कार्यक्रम की दी गयी जानकारी। मुख्य शिक्षा अधिकारी ने की डायट के कार्यो की सराहना।

Image
  जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान नई टिहरी में शैक्षिक गुणवत्ता में सुधार के लिए आयोजित वेबीनार में कोविड-19 के कारण बच्चों की शिक्षा दीक्षा में आए व्यवधान को सुचारू रूप से जारी रखने पर जोर दिया गया। इस दौरान मुख्य शिक्षा अधिकारी शिव प्रसाद सेमवाल ने सभी खंड शिक्षा अधिकारियों को डायट द्वारा विद्यार्थियों के लिए तैयार की गई विभिन्न प्रकार की पाठ्य सामग्री को विद्यालयों के माध्यम से बच्चों तक पहुंचाने के निर्देश दिए हैं।  कोविड-19 के कारण स्कूली बच्चों की पढ़ाई बाधित होने पर चिंता व्यक्त करते हुए डायट नई टिहरी द्वारा आयोजित वेबिनार में मुख्य शिक्षा अधिकारी शिव प्रसाद सेमवाल ने कहा है कि महामारी के कारण स्कूली बच्चों का पठन-पाठन बुरी तरह प्रभावित हुआ है। हालांकि विभागीय स्तर पर विभिन्न प्रकार से शैक्षिक व्यवधान की भरपाई करने का के पूरे प्रयास किए जा रहे हैं, किंतु ऑनलाइन शिक्षण में आने वाली विभिन्न समस्याओं के कारण ग्रामीण क्षेत्रों में बच्चों तक इसका पूरा लाभ नहीं पहुंच पा रहा है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के कारण जहां पूरी दुनिया अस्तव्यस्त हुई है वही इंसान ने कोविड-19 से बहुत कुछ सीख

डायट नई टिहरी के प्राचार्य ने पंचायत प्रतिनिधियों से की स्कूली बच्चों को आईसीटी के साधनों से शिक्षण के लिए प्रेरित करने की अपील।

Image
      प्राचार्य डायट, नई टिहरी- चेतन प्रसाद नौटियाल जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान नई टिहरी के प्राचार्य चेतन प्रसाद नौटियाल ने जनपद टिहरी गढ़वाल के समस्त त्रिस्तरीय पंचायत प्रतिनिधियों से कोविड 19 के जोखिम को ध्यान में रखते हुए ऑनलाइन शिक्षण और आईसीटी के विभिन्न साधनों जैसे डीटीएच, फ्री टू एयर, टेलीविजन और इंटरनेटयुक्त स्मार्टफोन आदि के माध्यम से शिक्षण के लिए स्कूली बच्चों और उनके अभिभावकों को प्रेरित करते हुए उन्हें यथासंभव सहयोग देने की अपील की है। उन्होंने कहा है कि पंचायत प्रतिनिधियों का अपने क्षेत्र के अभिभावकों के बीच अच्छा प्रभाव होता है जिसका उपयोग स्कूली बच्चों व अभिभावकों को इन माध्यमो से शिक्षण के लिए प्रेरित करते हुए किया जा सकता है।  जनपद के समस्त ग्राम प्रधानों, क्षेत्र पंचायत सदस्यों और जिला पंचायत सदस्यों को निर्गत किए गए पत्र में प्राचार्य ने कहा है कि विगत 1 वर्ष से कोविड-19 के प्रभाव से स्कूली बच्चों की शिक्षा दीक्षा पर बुरा प्रभाव पड़ा है जिस कारण बच्चे और उनके अभिभावक इस अनिश्चितता को लेकर चिंतित है। उन्होंने कहा कि स्कूली बच्चों की शिक्षा दीक्षा के साथ ही उनक

अटल उत्कृष्ट इंटर कॉलेजों के प्रधानाचार्यों के लिए 'क्षमता संवर्द्धन कार्यक्रम' पर तीन दिवसीय ऑनलाइन प्रशिक्षण 26 मई से होगा आरंभ। शिक्षा मंत्री करेंगे कार्यक्रम का शुभारंभ।

Image
 अटल उत्कृष्ट राजकीय इंटर कॉलेजों में कार्यरत प्रधानाचार्यों के लिए राज्य शैक्षिक प्रबंधन एवं प्रशिक्षण संस्थान उत्तराखंड क्षमता संवर्धन कार्यक्रम पर 26 से 28 मई तक तीन दिवसीय ऑनलाइन प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित करवाने जा रहा है। इस प्रशिक्षण में राज्य के सभी अटल उत्कृष्ट विद्यालय में कार्यरत प्रधानाचार्य व प्रभारी प्रधानाचार्य माइक्रोसॉफ्ट टीम के जरिए ऑनलाइन प्रशिक्षण लेंगे। कार्यक्रम का शुभारम्भ विद्यालयी शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे द्वारा किया जाएगा।  उल्लेखनीय है  कि उत्तराखंड के माध्यमिक विद्यालयों में अंग्रेजी माध्यम में शिक्षण के उद्देश्य से हाल में ही 189 विद्यालयों को अटल उत्कृष्ट राजकीय इंटर कॉलेजों के रूप में चयन किया गया है। इन सभी विद्यालयों को सीबीएसई द्वारा सम्बद्ध किया जा रहा है। इनमें से अधिकतर विद्यालय सीबीएसई का एफीलिएशन प्राप्त कर चुके हैं जबकि कुछ विद्यालय मानकों को पूरा न कर पाने के कारण अभी एफीलिएशन की प्रक्रिया से गुजर रहे हैं। राज्य में पब्लिक स्कूलों की मनमानी रोकने और विशेष रूप से ग्रामीण क्षेत्रों में अंग्रेजी माध्यम शिक्षा के लिए स्थापित किए जाने किए जा रहे इन

अर्थशास्त्र के विद्यार्थियों के लिए 'भारत मे निर्धनता' पर उपयोगी नोट्स यहां पढ़ें।

Image
     गरीबी का अर्थ है वह स्थिती जब किसी व्‍यक्ति को जीवन की निम्नतम आधार भूत जरूरत- भोजन, वस्त्र, एवं आवास भी उपलब्‍ध नहीं हो पाते । मनुष्य जब बुनियादी आवश्यकताओं की पूर्ति की स्थिती में नहीं होता तब उसे गरीब की श्रेणी में गिना जाता है। विकासशील देशों के संबंध में पहला वैश्विक गरीबी अनुमान वर्ल्‍ड डेवलपमेंन्‍ट रिपोर्ट 1990ई में मिलता है। वर्ल्‍ड डेवलपमेंन्‍ट रिपोर्ट में गरीबी को परिभाषित करते हुए कहा है कि गरीबी निम्नतम जीवनयापन स्‍तर करने की असमर्थता है, यानी जब निम्नतम जीवनयापन-स्‍तर भी प्राप्‍त नहीं किया जा सके तब उस स्थिती को गरीबी कहते है। सेद्धान्तिक रूप में गरीबी की माप करने के लिए सापेक्षित एवं निरपेक्ष प्रतिमानों का प्रयोग करते है। 1. सापेक्ष गरीबी :  सापेक्ष गरीबी यह स्पष्ट करती है कि विभिन्‍न आय वर्गों के बीच कितनी विषमता है। प्राय: इसे मापने की दो विधियां है। a. लॉरेंज वक्र b. गिनी गुणांक नोट : लॉरेंज वक्र जितनी ही पूर्ण समता रेखा के पास होगी, आय की विषमता उतनी ही कम होगी। लॉरेंज वक्र तथा गिनी गुणांक आय की विषमता की माप से संबंधित है, आय की विषमता को प्रतिव्‍यक्ति आय या कुज

उत्तराखंड के एक लाख से अधिक शिक्षकों के लिए 'संपर्क टीचर्स हेल्थलाइन' हुई आरंभ, शिक्षकों और परिजनों को मिलेगा निःशुल्क चिकित्सा परामर्श।

Image
 उत्तराखंड के सरकारी विद्यालय में नियुक्त एक लाख से अधिक शिक्षकों और उनके परिजनों के लिए संपर्क फाउंडेशन ने उत्तराखंड सरकार के सहयोग से निःशुल्क चिकित्सा परामर्श के लिए "संपर्क टीचर हेल्पलाइन" नमक कार्यक्रम आरंभ किया है। हेल्पलाइन का उद्घाटन करते हुए मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने कहा है कि यह सेवा स्थानीय अस्पतालों चिकित्सकों पर मरीजों के दबाव को कम करेगी तथा रोगियों में कोविड-19 के लक्षणों का जल्द पता लगाने में सहायक साबित होगी।    'संपर्क शिक्षक हेल्थलाइन' का उद्घाटन करते हुए मुख्यमंत्री श्री तीरथ सिंह रावत ने कहा है कि  संपर्क फाउंडेशन की यह मुहिम स्वागतयोग्य हैं। फाउंडेशन ने इस कठिन समय के दौरान राज्य की सहायता के लिए कदम बढ़ाया। संपर्क शिक्षक हेल्थलाइन सेवा द्वारा शिक्षकों और उनके परिजनों को अपने घरों पर ही चिकित्सा परामर्श का लाभ मिल सकेगा और इससे निश्चित रूप से राज्य के अस्पतालों और चिकित्सा संसाधनों पर दबाव भी कम होगा। हेल्थलाइन के जरिये फोन कॉल,वीडियो और एसएमएस के माध्यम से मुफ्त चिकित्सक परामर्श, रोगियों और परिवार के सदस्यों के लिए मुफ्त तनाव और चिंता प्रबंध

विद्यालयी शिक्षा विभाग टिहरी गढ़वाल की ओर से यह विद्यालय आयोजित कर रहा है 'Online Quiz Competition on COVID-19 & Vaccination'

Image
Covid-19 के जोखिम और टीकाकरण की आवश्यकता को लेकर आमलोगों और विशेषकर स्कूली बच्चों में जागरूकता लाने और सामान्य ज्ञान अभिवृद्धि के उद्देश्य से विद्यालयी शिक्षा विभाग टिहरी गढ़वाल की ओर से अटल उत्कृष्ट राजकीय इंटर कॉलेज जाखणीधार द्वारा एक ऑनलाइन क्विज प्रतियोगिता  का आयोजन करवा रहा है। प्रतियोगिता में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले प्रतिभागियों को अपर निदेशक माध्यमिक शिक्षा, गढ़वाल मंडल पौड़ी, मुख्य शिक्षा अधिकारी टिहरी और प्राचार्य डायट नई टिहरी के हस्ताक्षरयुक्त ई-प्रमाण पत्र दिए जाएंगे।  Covid-19 की दुसरी लहर के प्रभाव को देखते हुए चारो ओर डर और तनाव का माहौल बना हुआ है। ऐसे माहौल में आमलोगों और विशेषकर स्कूली बच्चों को Covid-19 के जोखिम और वेक्सिनेशन की आवश्यकता के प्रति जागरूक किया जाना आवश्यक है। इसी उद्देश्य को लेकर विद्यालयी शिक्षा विभाग  टिहरी गढ़वाल के अटल उत्कृष्ट राजकीय इंटर कॉलेज जाखणीधार द्वारा  'Online quiz competition on COVID-19 & Vaccination'  का आयोजन किया जा रहा है। उक्त आशय की जानकारी देते हुए विद्यालय के प्रधानाचार्य दिनेश प्रसाद डंगवाल ने बताया कि लॉकडाउन में

अटल उत्कृष्ट विद्यालयों के लिए विभाग ने मांगे राजकीय शिक्षकों से आवेदन। चयन के लिए आयोजित की जाएगी स्क्रीनिंग परीक्षा।

Image
 उत्तराखंड में 189 अटल उत्कृष्ट इंटर कॉलेजों के लिए प्रधानाचार्य, प्रवक्ता एवं सहायक अध्यापकों के पदों पर तैनाती के लिए विभाग ने राजकीय शिक्षकों से आवेदन मांगे हैं। शिक्षकों को अपने अपने संवर्गो में आवेदन करने होंगे। चयन उत्तराखंड बोर्ड द्वारा आयोजित की जाने वाली स्क्रीनिंग परीक्षा के आधार पर किया जाएगा।      उल्लेखनीय है कि उत्तराखंड में सरकार द्वारा प्रत्येक विकासखंड में दो दो अटल उत्कृष्ट राजकीय इंटर कॉलेजों के चयन किया है। इन विद्यालयों में अंग्रेजी माध्यम में पठन-पाठन किया जाना है। राज्य के निजी विद्यालयों की मनमानी और सरकारी विद्यालयों में गिरती छात्र संख्या को को रोकने के लिए सरकार द्वारा अटल उत्कृष्ट विद्यालयों को केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा परिषद यानी सीबीएसई से सम्बद्ध कर रही है। प्रथम चरण में कई विद्यालयों को सीबीएसई द्वारा प्रोविजनल ऐफिलेशन दिया गया है जबकि कुछ विद्यालय विद्यालय भवन, भूमि, प्रयोगशालाएं, खेल मैदान और अन्य इंफ्रास्ट्रक्चर संबंधी शर्तों को पूरा न कर पाने के कारण अभी तक सीबीएससी की संबद्धता प्राप्त नहीं कर पाए हैं।      विभाग द्वारा आज राजकीय अटल उत्कृष्ट विद्यालय

राष्ट्रीय आय की अवधारणाएं

Image
  राष्ट्रीय आय राष्ट्रीय आयः(national income ) राष्ट्रीय आय किसी देश की ओर से एक साल में उत्पादित सभी वस्तुओं और सेवाओं की कीमत (प्राप्ती) होती है। जितनी ज्यादा राष्ट्रीय आय होगी उसी अनुसार किसी भी अर्थव्यवस्था या देश का विकास आगे बढ़ता है। राष्ट्रीय आय के आंकड़ों से यह जाना जा सकता है कि किसी देश का विकास कितनी तेजी बढ़ रहा है। राष्ट्रीय आय की माप का अनुमान 1868 में दादाभाई नौरोजी में प्रकाशित किया। इन्होंने अपनी पुस्तक 'The poverty and Un- British Rule in India' में भारत की राष्ट्रीय आय 340 करोड रुपए और प्रति व्यक्ति आय ₹20 बताया था। स्वतंत्रता प्राप्ति के पश्चात केंद्रीय सरकार ने 4 अगस्त 1949 ईस्वी में एक राष्ट्रीय आय समिति की नियुक्ति की और इसके अध्यक्ष प्रोफेसर पी सी महालनोविस को नियुक्त किया। स्वतंत्रता प्राप्ति के बाद 1949 में गठित राष्ट्रीय आय समिति ने प्रति व्यक्ति आय 246.9 रूपय का अनुमान लगाया। केन्द्रीय सांख्यिकी संगठन (सीएसओ) से सम्बंधित मुख्य तथ्य केन्द्रीय सांख्यिकीय संगठन (सीएसओ) भारत में सांख्यिकीय गतिविधियों के समन्वय एवं सांख्यिकीय मानकों के विकास एवं अनुरक्षण

नई टिहरी के प्रसिद्ध चार्टर्ड अकाउंटेंट अशोक पोखरियाल भी हारे कोरोना की जंग। टिहरी में शोक का माहौल हुआ व्याप्त।

Image
 देहरादून और टिहरी के प्रसिद्ध चार्टड अकाउंटेंट अशोक पोखरियाल भी आखिर कोरोनावायरस की जंग हार गए। उनके निधन से टिहरी में शोक की लहर व्याप्त है पिछले दो-तीन दिनों में टिहरी में कोरोनावायरस नहीं पूरी तरह अपने पांव पसार लिए हैं  और इस समय कई लोगों का जीवन दांव पर लगा हुआ है।      टिहरी और देहरादून में प्रसिद्ध चार्टर्ड अकाउंटेंट अशोक पोखरियाल भी कोरोना से अपने जीवन की जंग को हार गए। 55 वर्षीय अशोक नई टिहरी और देहरादून में एक ख्याति प्राप्त चार्टर्ड अकाउंटेंट होने की साथ ही सामाजिक कार्यकर्ता भी थे। कोरोनावायरस उनके परिवार के लिए दुखों का पहाड़ लेकर आया है। 3 दिन पहले की उनके 26 वर्षीय भतीजे ऋषभ की कोरोनावायरस के संक्रमण से असमय निधन हो गया था। ऋषभ के अचानक इस तरह चले जाने से परिवार अभी सदमे में ही था कि अशोक पोखरियाल के निधन से परिवार पर अब दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है। उनके निधन पर टिहरी में शोक का माहौल व्याप्त है। टिहरी और देहरादून के अनेक गणमान्य लोगों ने उनके निधन पर शोक संवेदनाएं व्यक्त की है।

इंटर कॉलेज मंदार के प्रधानाचार्य राज्यपाल सिंह परमार के निधन से शिक्षकों में शोक की लहर।

Image
टिहरी जिले के राजकीय इंटर कॉलेज मंदार के प्रधानाचार्य राज्यपाल सिंह परमार के आकस्मिक निधन की खबर से शिक्षकों में शोक की लहर व्याप्त है। वे पिछले कुछ दिनों से कोरोनावायरस से संक्रमित बताए जा रहे थे। शिक्षकों सहित कई संगठनों से जुड़े लोगों ने उनके आकस्मिक निधन पर शोक संवेदना व्यक्त की है।        टिहरी जिले के जाखणीधार विकासखंड के अंतर्गत दूरस्थ क्षेत्र  के राजकीय इंटर कॉलेज मंदार के प्रधानाचार्य राज्यपाल सिंह परमार का स्वास्थ्य बिगड़ने पर और जांच कराने पर वे कोरोनावायरस से संक्रमित पाए गए थे और इस समय उनका उपचार चल रहा था, किंतु तबीयत बिगड़ने और ऑक्सीजन लेवल में गिरावट आने के कारण कोरोना की जंग में वह हार गए। उनके अचानक इस तरह से चले जाने से क्षेत्र में शोक की लहर व्याप्त है। राज्यपाल सिंह परमार एक समर्पित शिक्षक होने के साथ ही पिछले लंबे समय से ही राजकीय इंटर कॉलेज मंदार में बतौर प्रधानाचार्य के पद पर नियुक्त रहने के साथ ही अनेक माध्यमिक विद्यालयों के आहरण और वितरण अधिकारी भी थे। बेहद सरल स्वभाव, मिलनसार, समाज और विद्यार्थियों के लिए समर्पित रहने के साथ ही वह एक कुशल प्रधानाचार्य थे और स

अर्थशास्त्र के विद्यार्थी पढ़ें - अर्थशास्त्र का अर्थ

Image
सुशील डोभाल, प्रवक्ता अर्थशास्त्र प्रिय विद्यार्थियों,      आप सभी जानते हैं कि भारत में कोरोना वायरस की दूसरी लहर बेहद भयावह रूप ले रही है. दुनिया में इस समय भारत पांच सबसे ज्यादा कोरोना प्रभावित देशों की सूची में है. ज्यादातर एक्सपर्ट्स का मानना है कि दूसरी लहर देश में ही विकसित हुए कोरोनावायरस के नए स्ट्रेन्स यानी वैरिएंट की वजह से ज्यादा खतरनाक हो गई है. लगातार बढ़ते संक्रमण के चलते एक बार फिर से स्कूल कॉलेज बंद हो गए हैं और ऐसी परिस्थितियों में आपकी शैक्षिक प्रगति भी बाधित होनी स्वाभाविक है। आप सभी को इस भयानक वायरस से सुरक्षा के तमाम उपायों को अपनाते हुए एक बार पुनः ऑनलाइन अध्ययन के माध्यम से अपने पाठ्यक्रम पर ध्यान देना होगा। तो आइए शुरू करते हैं 'अर्थशास्त्र विषय के सामान्य परिचय के साथ' आज का अध्ययन। अर्थशास्त्र का अर्थ अर्थशास्त्र सामाजिक विज्ञान की वह शाखा है, जिसके अन्तर्गत वस्तुओं और सेवाओं के उत्पादन, वितरण, विनिमय और उपभोग का अध्ययन किया जाता है। अर्थशास्त्र का पिता- एडम स्मिथ(Adom smith) को अर्थशास्त्र का पिता कहा जाता है। उन्होंने एक पुस्तक लिखी थी wealth of nat

टिहरी के मुख्य शिक्षा अधिकारी को एक जनप्रतिनिधि ने दी मर्डर की धमकी। ऑडियो टेप सोशल मीडिया में हुआ वायरल।

Image
टिहरी के मुख्य शिक्षा अधिकारी एसपी सेमवाल को  एक जिला पंचायत सदस्य द्वारा फोन पर गाली-गलौज व जान से मारने की धमकी देने का मामला प्रकाश  में आया है। अधिकारी के साथ अमर्यादित व्यवहार पर राजकीय शिक्षक संघ सहित अनेक संगठनों से जुड़े लोगों ने कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए निष्पक्ष कार्यवाही की मांग की है।    टि हरी के मुख्य शिक्षा अधिकारी एसपी सेमवाल को एकजनप्रतिनिधि द्वारा गाली गलौज करते हुए फोन पर जान से मारने की धमकी दी गयी है। जनप्रतिनिधि किसी के साथ फोन पर बार्तालाप कर रहे हैं और इस दौरान रिकॉर्ड किया गया  ऑडियो टेप सोशल मीडिया पर अब खूब वायरल हो रहा है। सेमवाल टिहरी में बतौर मुख्य शिक्षा अधिकारी अपनी सेवाएं दे रहे हैं और शिक्षकों, अभिभावकों और विद्यार्थियों के बीच काफी लोकप्रिय हैं।              मुख्य शिक्षा अधिकारी शिव प्रसाद सेमवाल ने मंगलवार को नरेंद्रनगर थाने में दी तहरीर में कहा कि टिहरी में एक जिला पंचायत सदस्य किसी से फोन पर बात करते हुए उन्हें गालीगलौज और जान से मारने की धमकी दे रहे हैं। इस संबंध में एक ऑडियो इंटरनेट मीडिया पर जब वायरल हुआ तो उन्हें इसकी जानकारी मिली। उन्होंने कह

विद्यालय में धूमधाम से मनाया गया कक्षा 8 का विदाई समारोह, पूर्व छात्रों को भी किया गया सम्मानित।

Image
 टिहरी जिले के राजकीय जूनियर हाईस्कूल पडिया, प्रतापनगर में कक्षा 8 का विदाई समारोह हर्सोल्लास के साथ आयोजित किया गया। इस अवसर पर पूर्वछात्रों को भी सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में प्रधानाध्यापिका मीनाक्षी सिलस्वाल ने बच्चों को हमेशा कठोर परिश्रम और ईमानदारी के साथ ऊंचे लक्ष्य निर्धारित करते हुए जीवन में मानवीय मूल्यों को अपनी प्राथमिकता में रखते हुए आगे बढ़ने का आवाहन किया है।          रा जकीय जूनियर हाईस्कूल पडिया में कक्षा 8 का विदाई समारोह धूमधाम से मनाया गया। इस अवसर पर एस.एम.सी. अध्यक्ष कुसुम देवी, ग्राम प्रधान संगीता देवी, विद्यालय में अध्यनरत विद्यार्थियों के अभिभावक और पूर्व छात्र- छात्राएं उपस्थित थे। समारोह में विशिष्ट अतिथि के रूप में श्रीमती लक्ष्मी देवी को आमंत्रित किया गया था। इस अवसर पर विद्यालय के होनहार छात्र-छात्राओं को पुरुस्कृत किया गया एवम रंगारंग कार्यक्रमों का आयोजन किया गया।          प्रधानाध्यापिका मीनाक्षी सिलस्वाल ने अभिभावकों को विद्यालय की उपलब्धियों से अवगत करवाते हुए बताया की विगत वर्षो की भांति इस वर्ष भी विद्यालय में कक्षा 8 में अध्यनरत आरुष सिलस्वाल न

ऊर्जा संरक्षण दिवस पर आयोजित प्रतियोगिताओं के चयनितों को सीईओ टिहरी एसपी सेमवाल ने नगद पुरस्कार देकर किया सम्मानित।

Image
ऊर्जा संरक्षण दिवस पर जनपद स्तर पर राजकीय इंटर कॉलेज जाखणीधार टिहरी गढ़वाल द्वारा आयोजित विभिन्न ऑनलाइनप्रतियोगिताओं के चयनित विद्यार्थियों को मुख्य शिक्षा अधिकारी एसपी सेमवाल द्वारा नगद पुरुस्कार राशि देखकर सम्मानित किया है। स्कूली बच्चों द्वारा चित्रकला , क्विज , निबंध और भाषण आदि विभिन्न ऑनलाइन प्रतियोगिताओं के माध्यम से ऊर्जा संरक्षण को लेकर जनसामान्य को जागरूक करने के अनेक रोचक संदेश दिए थे।    उल्लेखनीय है प्रत्येक वर्ष 14 दिसंबर को देशभर में ऊर्जा संरक्षण दिवस के रूप में मनाते हुए इस दिन ऊर्जा संरक्षण विषय पर स्कूली बच्चों द्वारा विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाता है , इस वर्ष कोविड -19 को ध्यान में रखते हुए ऊर्जा संरक्षण दिवस पर   चित्रकला , क्विज और निबंध प्रतियोगिताएं मुख्य शिक्षा अधिकारी के निर्देशों पर ऑनलाइन मोड में जनपद स्तर पर राजकीय इंटर कॉलेज जाखणीधार के अर्थशास्त्र प्रवक्ता सुशील डोभाल द्वारा आयोजित की गई। जबकि ऑनलाइन भाषण प्रतियोग